Passing Semen with Urine Treatment In Jaipur (पेशाब के साथ वीर्य निकलना या धातु रोग)

अपॉंट्मेंट बुक करे ( Book Appointments)

सेक्स के बारे में अनेकों ग़लत धारणाओं में से एक यह भी हे । आमतौर पर मरीज़ को शिकायत होती हे कि पेशाब के साथ वीर्य निकल जाता हे जिस से उन्हें कमज़ोरी, जल्दी थक जाना, वीर्य की कमी और पतला वीर्य, शीघ्रपतन और नाड़ियों की कमज़ोरी। ऐसी धारणा एक ग़लत फ़हमी से पैदा होती हे कि वीर्य मानव की ऊर्जा और शक्ति का स्रोत हे इसलिए यदि ये व्यर्थ बहा तो सर्व नाश होगा । कुछ संस्कृतियों में पूर्ण ब्रह्मचर्य को शक्ति संचय का साधन माना जाता हे । परंतु इसमें कोई वेज्ञानिक तथ्य नहीं हे।

पहले तो ये बात ग़लत हे कि पेशाब के साथ चिकना सा पानी जैसा ट्रैन्स्पेरेंट द्रव्य वीर्य होता हे। ये पेशाब और वीर्य निकास के कॉमन रास्ते युरीथ्रा नली के चारों और की ग्रंथियों का सामान्य सा द्रव्य हे । इसका बनना या न बनना आपके नियंत्रण में न होकर सेक्स हॉर्मोन टेस्टास्टरोन से संचालित होता हे। आपके दिमाग़ में सेक्स सम्बंधित विचार आने या कोई भी अन्य सेक्शूअल संकेत से स्वचालित इस द्रव्य का एक अति महत्वपूर्ण कार्य होता हे – सेक्स के समय अपेक्षित चिकनाई प्रदान करना ताकि सम्भोग सहजता से सम्पन्न हो सके और युरीथ्रा नली के अंदर का वातावरण अम्लीय से क्षरिय किया जा सके । इस से शुक्राणु सुरक्षित बाहर जा सकते हे। अन्य तकलीफ़े जैसे कमज़ोरी वगेरह तो चिंता की वजह से होती हे।
इसलिए ये बात पूरी तरह से बेबुनियाद हे कि पेशाब के साथ कोई धातु या वीर्य निकलने से कमज़ोरी आ जाती हे ।

Copyright © 2017 Vivan Hospital for Sexual Health